Friday, July 19, 2024
Home उत्तराखंड अमेजन और डीजीएफटी ने भारत से एमएसएमई निर्यात को बढ़ावा देने के...

अमेजन और डीजीएफटी ने भारत से एमएसएमई निर्यात को बढ़ावा देने के लिए एक समझौते पर किया हस्ताक्षर

देहरादून। अमेजन इंडिया ने सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (एमएसएमई) को सक्षम बनाने और देश से ई-कॉमर्स एक्सपोर्ट को बढ़ावा देने के संबंध में एक महत्वपूर्ण पहल करते हुए, विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी), वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय, भारत सरकार के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किया है। इस एमओयू के हिस्से के रूप में, अमेजन और डीजीएफटी, डीजीएफटी द्वारा चिह्नित 75 जिलों में चरणबद्ध तरीके से, एमएसएमई के लिए क्षमता निर्माण सत्र, प्रशिक्षण और कार्यशालाओं का सह-संचालन करेंगे, जो मार्च 23 में पेश विदेश व्यापार नीति में उल्लिखित एक्सपोर्ट हब्स के रूप में जिले पहल के अंग हैं। इस पहल का उद्देश्य है, ग्रामीण और दूरदराज स्थित जिलों में स्थानीय उत्पादकों को ग्लोबल सप्लाय चेन से जोड़ना। संतोष सारंगी (डीजीएफटी के अतिरिक्त सचिव और महानिदेशक), चेतन कृष्णास्वामी (उपाध्यक्ष, पब्लिक पॉलिसी – अमेजन) और भूपेन वाकणकर (निदेशक, ग्लोबल ट्रेड – अमेजन इंडिया) की उपस्थिति में समझौते पर हस्ताक्षर किये गये।
अमेजन और डीजीएफटी, एमएसएमई को ई-कॉमर्स एक्सपोर्ट के बारे में शिक्षित करने और उन्हें दुनिया भर में ग्राहकों को बेचने में सक्षम बनाने पर ध्यान केंद्रित करेंगे। अमेजन कई तृतीय-पक्ष सेवा प्रदाताओं तक पहुंच में मदद करेगा, जिनके साथ एमएसएमई इमेजिंग, अपने उत्पादों की डिजिटल कैटलॉगिंग, टैक्स सलाह जैसी सेवाओं का लाभ उठाने के लिए जुड़ सकते हैं। इससे भारतीय उद्यमी अपने ई-कॉमर्स एक्सपोर्ट बिजनेस और ग्लोबल ब्रांड बना सकते हैं।
अमेजन इंडिया में ग्लोबल ट्रेड के निदेशक भूपेन वाकणकर ने कहा कि हमारा दृढ़ विश्वास है कि टेक्नोलॉजी को अपनाने से पूरे भारत में लाखों एमएसएमई के लिए निर्यात के अवसर खुलेंगे और एफटीपीश्23 में ई-कॉमर्स एक्सपोर्ट पर हाल में जोर दिया जाना, टेक्नोलॉजी-एनेबल्ड एक्सपोर्ट की गतिविधियों के लिए एक आशाजनक दौर की शुरुआत है। हम डीजीएफटी के साथ इस सहयोग को लेकर उत्साहित हैं और हम वास्तव में भारतीय एमएसएमई और उद्यमियों को मजबूत ग्लोबल ब्रांड बनाने में मदद करने में अपनी भूमिका निभाने को लेकर उत्सुक हैं। हम हर स्तर के व्यवसायों के लिए एक्सपोर्ट को सरल और अधिक सुलभ बनाने पर ध्यान केन्द्रित कर रहे है क्योंकि हम 2025 तक भारत से 20 बिलियन डॉलर के कुल ई-कॉमर्स एक्सपोर्ट को सक्षम बनाने के अपने लक्ष्य की दिशा में काम कर रहे हैं।

RELATED ARTICLES

सीएम धामी के निर्देशों पर फेरी-ठेली वालों को जारी होंगे पहचान पत्र, अनिवार्य रूप से करने होंगे प्रदर्शित

देहरादून। फेरी-ठेली वालों को जल्द ही पहचान पत्र प्रदान किये जायेंगे। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देशों पर इस संबंध में शहरी विकास निदेशालय...

मॉर्डन मदरसे में किया गया वृक्षारोपण

देहरादून। राज्यसभा सांसद नरेश बंसल, बीस सूत्रीय कार्यक्रम के उपाध्यक्ष ज्योति प्रसाद गैरोला, उच्च शिक्षा उ॰ समिति के अध्यक्ष डॉ॰ देवेन्द्र भसीन, कैलाश पंत...

भाजपा ने केदारनाथ धाम को लेकर कांग्रेस की पदयात्रा को राजनीति से प्रेरित बताया

देहरादून। भाजपा ने श्री केदारनाथ धाम को लेकर कांग्रेस की पदयात्रा को राजनीति से प्रेरित बताया है। प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने कहा, धामों...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

सीएम धामी के निर्देशों पर फेरी-ठेली वालों को जारी होंगे पहचान पत्र, अनिवार्य रूप से करने होंगे प्रदर्शित

देहरादून। फेरी-ठेली वालों को जल्द ही पहचान पत्र प्रदान किये जायेंगे। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देशों पर इस संबंध में शहरी विकास निदेशालय...

मॉर्डन मदरसे में किया गया वृक्षारोपण

देहरादून। राज्यसभा सांसद नरेश बंसल, बीस सूत्रीय कार्यक्रम के उपाध्यक्ष ज्योति प्रसाद गैरोला, उच्च शिक्षा उ॰ समिति के अध्यक्ष डॉ॰ देवेन्द्र भसीन, कैलाश पंत...

भाजपा ने केदारनाथ धाम को लेकर कांग्रेस की पदयात्रा को राजनीति से प्रेरित बताया

देहरादून। भाजपा ने श्री केदारनाथ धाम को लेकर कांग्रेस की पदयात्रा को राजनीति से प्रेरित बताया है। प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने कहा, धामों...

सीएम धामी ने राज्यपाल से की भेंट

देहरादून। राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) से बुधवार को राजभवन में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शिष्टाचार भेंट की। इस अवसर पर...

Recent Comments