Thursday, July 25, 2024
Home उत्तराखंड बुद्ध मानवता के सामूहिक बोध का अवतरणः राज्यपाल

बुद्ध मानवता के सामूहिक बोध का अवतरणः राज्यपाल

देहरादून। राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) ने आईआरडीटी ऑडिटोरियम, देहरादून में बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि प्रतिभाग करते हुए उपस्थित लोगों को बुद्ध पूर्णिमा उत्सव की बधाई दी। उन्होंने विश्व भर में फैले भगवान बुद्ध के अनुयायियों को भी इस अवसर पर वैशाख माह की इस पवित्र पूर्णिमा की बधाई और शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर राज्यपाल द्वारा धर्माचार्य शांतम सेठ एवं तिब्बतन वूमेन एसोसिएशन को धम्म रत्न पुरस्कार-2024 से सम्मानित किया गया। राज्यपाल ने कहा कि बुद्ध मानवता के सामूहिक बोध का अवतरण हैं। बुद्ध बोध भी हैं, और बुद्ध शोध भी हैं। बुद्ध विचार भी हैं, और बुद्ध संस्कार भी हैं। बुद्ध इसलिए विशेष हैं क्योंकि उन्होंने केवल उपदेश नहीं दिये, बल्कि उन्होंने मानवता को ज्ञान की अनुभूति करवाई। उन्होंने महान वैभवशाली राज्य और चरम सुख सुविधाओं को त्यागने का साहस किया।
राज्यपाल ने कहा कि भगवान बुद्ध ने एहसास करवाया कि प्राप्ति से भी ज्यादा महत्व त्याग का होता है। त्याग से ही प्राप्ति पूर्ण होती है। इसलिए, वे चरम सुख-सुविधाओं को त्यागकर जंगलों में विचरे, उन्होंने तप किया, शोध किया। उस आत्मशोध के बाद जब वो ज्ञान के शिखर तक पहुंचे, तो उन्होंने हमें मंत्र दिया था-अपना दीपक स्वयं बनो। मेरे वचनों का परीक्षण करके ही उन्हें आत्मसात करो। राज्यपाल ने कहा कि जब हम भगवान बुद्ध की तरह मानवीय जीवन को इस पूर्णता में देखने लगते हैं, तो विभाजन और भेदभाव के लिए कोई जगह नहीं बचती। तब हम खुद ही ‘वसुधैव कुटुंबकम’ की उस भावना को जीने लगते हैं जो ‘सर्वे भवन्तु सुखिनः’ से लेकर ‘भवतु सब्ब मंगलम’ के बुद्ध उपदेश तक झलकती है। इसीलिए, भौगोलिक सीमाओं से ऊपर उठकर बुद्ध हर किसी के हैं, हर किसी के लिए हैं। राज्यपाल ने कहा कि भारत भगवान बुद्ध की धरती है। यह हम सबके लिए गर्व की बात है। यदि हम सभी को जीवन को खुशहाल बनाना है तो भगवान बुद्ध का अनुसरण कर करूणा, सेवा, त्याग की भावना को आत्मसात करना होगा। उन्होंने कहा कि बुद्ध के हर कथन में अपार शक्ति है। मुझे पहाड़ों में खासकर लद्दाख में सेवा का मौका मिला वहां पर भगवान बुद्ध के उपदेशों, विचारों को सुनने और जानने का अवसर प्राप्त हुआ। कार्यक्रम में उत्तराखण्ड अल्पसंख्यक आयोग के पूर्व अध्यक्ष आर.के.जैन, अरबिंदु सोसाइटी, देहरादून की अध्यक्ष मधु अंजलि, तिब्बतन सेटलमेंट ऑफिसर धोंदुप ग्यालपो ला सहित दून बुद्ध समिति के पदाधिकारी एवं सदस्यों सहित कई गणमान्य उपस्थित रहे।

RELATED ARTICLES

स्थानीय महिलाओं की आजीविका का सशक्त माध्यम बनेगा हाउस ऑफ हिमालयाजः मुख्य सचिव

देहरादून। मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने हाउस ऑफ हिमालयाज के तहत स्थानीय उत्पादों की बेहतरीन मार्केटिंग, क्वालिटी व ब्राण्डिंग पर फोकस करने के निर्देश...

कालाढूंगी-नैनीताल मार्ग पर दो कारों की भिड़ंत में एमबीबीएस छात्र की मौत

नैनीताल। कालाढूंगी-नैनीताल मार्ग पर देर शाम आमने-सामने हुई दो कारों की भिड़त में एमबीबीएस के छात्र की मौत हो गयी है। जो उत्तराखंड हाईकोर्ट...

बहुउद्देशीय विधिक साक्षरता एवं जागरूकता शिविर का हुआ आयोजन

देहरादून। उत्तराखण्ड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण नैनीताल एवं जिला न्यायाधीश अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, देहरादून प्रेम सिंह खिमाल के निर्देशानुसार जनपद देहरादून के...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

स्थानीय महिलाओं की आजीविका का सशक्त माध्यम बनेगा हाउस ऑफ हिमालयाजः मुख्य सचिव

देहरादून। मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने हाउस ऑफ हिमालयाज के तहत स्थानीय उत्पादों की बेहतरीन मार्केटिंग, क्वालिटी व ब्राण्डिंग पर फोकस करने के निर्देश...

कालाढूंगी-नैनीताल मार्ग पर दो कारों की भिड़ंत में एमबीबीएस छात्र की मौत

नैनीताल। कालाढूंगी-नैनीताल मार्ग पर देर शाम आमने-सामने हुई दो कारों की भिड़त में एमबीबीएस के छात्र की मौत हो गयी है। जो उत्तराखंड हाईकोर्ट...

बहुउद्देशीय विधिक साक्षरता एवं जागरूकता शिविर का हुआ आयोजन

देहरादून। उत्तराखण्ड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण नैनीताल एवं जिला न्यायाधीश अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, देहरादून प्रेम सिंह खिमाल के निर्देशानुसार जनपद देहरादून के...

केंद्रीय बजट में उतराखंड को आपदा में मदद का भरोसा स्वागत योग्य कदमः महेंद्र भट्ट

देहरादून। भाजपा ने केंद्रीय बजट को आत्मनिर्भर, विकसित भारत की संकल्प पूर्ति वाला बजट बताया है। उत्तराखंड के लिए आपदा में मदद काफी अहम...

Recent Comments