Thursday, July 25, 2024
Home उत्तराखंड महिला कलाकारों ने किया रामलीला का सुंदर मंचन

महिला कलाकारों ने किया रामलीला का सुंदर मंचन

देहरादून। सरस्वती विहार विकास समिति देहरादून के तत्वावधान में महिला कलाकारों द्वारा रामलीला का सुंदर मंचन किया जा रहा है। रामलीला के छठवें दिन में रावण की बहन शूर्पणखा जंगल में घूमने जाती है वहीं उसकी राम लक्ष्मण और माता सीता दिखाई देते हैं उनको लुभाने के लिए बहुत सुंदरी का रूप बनाती है और राम के पास जाकर उन्हें शादी के लिए कहती है, रामचंद्र जी उसे लक्ष्मण के पास भेजते हैं कि मैं शादीशुदा हूं आप लक्ष्मण के पास जो वह तुम्हें आवश्य वर लेगा, लक्ष्मण को लुभाने का प्रयत्न करती है जिससे लक्ष्मण को क्रोध आ जाता है और वह उसकी नाक काट देता है। सूर्पनखा अपने भाई खर और दूषण के पास जाती है, जब सूर्पनखा से खर और दूषण पूछते हैं कि उसकी नाक किसने काटी तो वह राम और लक्ष्मण का नाम लेती है इससे दोनों को बड़ा क्रोध आता है और वह लड़ाई करने के लिए राम और लक्ष्मण के पास चले जाते हैं तत्पश्चात वह दोनों राम और लक्ष्मण के हाथों मारे जाते हैं, यह खबर जब रावण को पता चलती है तो वह प्रतिशोध लेने के लिए सीता का हरण करने की योजना बनाता है और मामा मारीच के पास जाता है और उसे सोने का हिरण बनने को कहता है लेकिन पहले मामा मारीच तैयार नहीं होता है लेकिन जब उसे लगता है कि ऐसा ना करके वह रावण उसे मार देगा इसलिए वह सोचता है कि रावण के हाथों से मरने से अच्छा प्रभु श्री राम के हाथों से मर जाऊं और वह सोने का हिरण बन जाता है, सोने का हिरण देखते ही माता सीता प्रभु श्री राम को हिरण पकड़ने के लिए बोलती है श्री राम लक्ष्मण को सीता माता की देखभाल करने के लिए बोलते हैं और फिर हिरण के पीछे चले जाते हैं, काफी दूर जाने के बाद मायावी हिरण ने हाय लक्ष्मण है सीता की आवाज निकाल आवाज सुनकर सीता माता घर आ गई और लक्ष्मण को राम की मदद के लिए भेजने को मजबूर करने लगी पहले तो लक्ष्मण तैयार नहीं हुई लेकिन जब सीता माता ने है कर दी उसके बाद उन्होंने लक्ष्मण रेखा खींची और कहा जब तक मैं या प्रभु श्री राम नहीं आते आप इस लाइन के भीतर रहना रावण साधु के रस में आया और माता सीता से भिक्षा मांगने लगा, माता सीता ने रावण को साधु समझ कर दीक्षा देने की लक्ष्मण रेखा के अंदर से ही कोशिश की लेकिन रावण ने रेखा पार करने के बाद ही भिक्षा लेने की बात कही और फिर जैसे ही माता सीता ने लक्ष्मण रेखा पार करी रावण ने अपना असली भेष में आकर माता सीता का हरण कर दिया।

RELATED ARTICLES

स्थानीय महिलाओं की आजीविका का सशक्त माध्यम बनेगा हाउस ऑफ हिमालयाजः मुख्य सचिव

देहरादून। मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने हाउस ऑफ हिमालयाज के तहत स्थानीय उत्पादों की बेहतरीन मार्केटिंग, क्वालिटी व ब्राण्डिंग पर फोकस करने के निर्देश...

कालाढूंगी-नैनीताल मार्ग पर दो कारों की भिड़ंत में एमबीबीएस छात्र की मौत

नैनीताल। कालाढूंगी-नैनीताल मार्ग पर देर शाम आमने-सामने हुई दो कारों की भिड़त में एमबीबीएस के छात्र की मौत हो गयी है। जो उत्तराखंड हाईकोर्ट...

बहुउद्देशीय विधिक साक्षरता एवं जागरूकता शिविर का हुआ आयोजन

देहरादून। उत्तराखण्ड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण नैनीताल एवं जिला न्यायाधीश अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, देहरादून प्रेम सिंह खिमाल के निर्देशानुसार जनपद देहरादून के...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

स्थानीय महिलाओं की आजीविका का सशक्त माध्यम बनेगा हाउस ऑफ हिमालयाजः मुख्य सचिव

देहरादून। मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने हाउस ऑफ हिमालयाज के तहत स्थानीय उत्पादों की बेहतरीन मार्केटिंग, क्वालिटी व ब्राण्डिंग पर फोकस करने के निर्देश...

कालाढूंगी-नैनीताल मार्ग पर दो कारों की भिड़ंत में एमबीबीएस छात्र की मौत

नैनीताल। कालाढूंगी-नैनीताल मार्ग पर देर शाम आमने-सामने हुई दो कारों की भिड़त में एमबीबीएस के छात्र की मौत हो गयी है। जो उत्तराखंड हाईकोर्ट...

बहुउद्देशीय विधिक साक्षरता एवं जागरूकता शिविर का हुआ आयोजन

देहरादून। उत्तराखण्ड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण नैनीताल एवं जिला न्यायाधीश अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, देहरादून प्रेम सिंह खिमाल के निर्देशानुसार जनपद देहरादून के...

केंद्रीय बजट में उतराखंड को आपदा में मदद का भरोसा स्वागत योग्य कदमः महेंद्र भट्ट

देहरादून। भाजपा ने केंद्रीय बजट को आत्मनिर्भर, विकसित भारत की संकल्प पूर्ति वाला बजट बताया है। उत्तराखंड के लिए आपदा में मदद काफी अहम...

Recent Comments