Monday, May 20, 2024
Home उत्तराखंड ईकॉम एक्सप्रेस के डिलिवरी पार्टनर प्रोग्राम के लिए 55,000 पंजीकरण

ईकॉम एक्सप्रेस के डिलिवरी पार्टनर प्रोग्राम के लिए 55,000 पंजीकरण

देहरादून। ई-कॉमर्स इंडस्ट्री के लिए नए जमाने की प्रौद्योगिकी-संचालित एंड-टू-एंड लॉजिस्टिक्स समाधान प्रदाता ईकॉम एक्सप्रेस लिमिटेड ने घोषणा की है कि सितंबर 2021 में हुए अपने लॉन्च के बाद से डिलिवरी पार्टनर नियुक्त करने के लिए उसने अपने ’ईकॉम संजीव’ नामक समर्पित ऐप पर 55,000 से ज्यादा गिग कर्मचारियों का पंजीकरण कर लिया है। काम के फ़्लेक्सिबल समय में ग्राहकों को ई-कॉमर्स शिपमेंट डिलिवर करके अपनी कमाई बढ़ाने वाले व्यक्तियों को पार्ट-टाइम अवसर देना कंपनी के डिलिवरी पार्टनर प्रोग्राम का उद्देश्य है। ईकॉम एक्सप्रेस के गिग मॉडल के माध्यम से काम करने वाले डिलिवरी पार्टनर 15,000 रुपये से लेकर 60,000 रुपये प्रति माह तक कमा सकते हैं।
लगभग 60 प्रतिशत पंजीकरण टियर 4 शहरों और कस्बों से हुए हैं, जो उन क्षेत्रों में गिग अवसरों के प्रति उत्पन्न भारी आत्मीयता का संकेत देते हैं। सबसे ज्यादा पंजीकरण वाले शीर्ष 10 शहरों/कस्बों में दिल्ली, बेंगलुरु, मुंबई, हैदराबाद, चेन्नई, कोलकाता, पुणे, लखनऊ, गुरुग्राम और पटना शामिल हैं। उत्तराखंड में लगभग 1000 गिग कर्मचारी डिलिवरी पार्टनर के रूप में ईकॉम एक्सप्रेस के साथ पार्ट टाइम जुड़ने हेतु अपना पंजीकरण करा चुके हैं। इनमें से अधिकांश पंजीकरण देहरादून, हरिद्वार, हल्दवानी, काशीपुर और रुद्रपुर सहित उत्तराखंड के अन्य शहरों से भी हुए हैं।
ईकॉम एक्सप्रेस के चीफ पीपल ऑफिसर सौरभ दीप सिंगला ने बताया, “पिछले साल अपना ईएसपी प्रोग्राम लॉन्च करने के बाद हमने छात्रों, गृहणियों और ऐसे व्यक्तियों के लिए अवसर पैदा किए हैं, जो अपने अतिरिक्त समय के दौरान ई-कॉमर्स शिपमेंट वितरित करके अपनी आय बढ़ाना चाहते हैं। यह फ्लैगशिप कार्यक्रम गिग वर्कफोर्स को सशक्त बनाने के साथ-साथ कंपनी को ऑनलाइन ऑर्डर किए गए उत्पाद अंतिम ग्राहकों के दरवाजे पर सुरक्षित रूप से डिलिवर करने के लिए रफ्तार, विश्वसनीयता और प्रभावी लॉजिस्टिक्स समाधान सुनिश्चित करने को लेकर अपनी वितरण क्षमताएं बढ़ाने में भी मदद करता है।“ कंपनी ने डिलिवरी पार्टनर्स के काम की निरंतरता के आधार पर अटेंडेंस बोनस देने सहित कई अन्य लाभों की पेशकश करने के अलावा किसी भी अनहोनी से बचाने के लिए उनका 2 लाख रुपये का दुर्घटना बीमा कराने का ऐलान किया है। मौजूदा पार्टनर्स को पुरस्कृत करते हुए इनकी संख्या बढ़ाने के लिए समय-समय पर रेफरल प्रोग्राम भी चलाए जाते हैं।

RELATED ARTICLES

बदरीनाथ धाम में आठ दिनों में रिकॉर्ड 120757 तीर्थयात्रियों ने किए दर्शन

चमोली। बदरीनाथ धाम में कपाट खुलने के बाद महज आठ दिनों में रिकॉर्ड 120757 तीर्थयात्री बदरीनाथ दर्शन कर चुके है। आज 19 मई को...

बाबा श्री विश्वनाथ मां जगदीशिला डोली का देहरादून में हुआ भव्य स्वागत

देहरादून। बाबा श्री विश्वनाथ मां जगदीशिला डोली की 25वीं रथ यात्रा का रविवार को नगर निगम कार्यालय परिसर देहरादून में भव्य स्वागत हुआ। इससे...

25 मई को खुलेंगे हेमकुंड साहिब के कपाट

देहरादून। हेमकुंड साहिब के कपाट आगामी 25 मई को खोले जाएंगे। इसके चलते राज्य सरकार, जिला प्रशासन और गुरुद्वारा प्रबंधन ने जमीनी हालात को...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

बदरीनाथ धाम में आठ दिनों में रिकॉर्ड 120757 तीर्थयात्रियों ने किए दर्शन

चमोली। बदरीनाथ धाम में कपाट खुलने के बाद महज आठ दिनों में रिकॉर्ड 120757 तीर्थयात्री बदरीनाथ दर्शन कर चुके है। आज 19 मई को...

बाबा श्री विश्वनाथ मां जगदीशिला डोली का देहरादून में हुआ भव्य स्वागत

देहरादून। बाबा श्री विश्वनाथ मां जगदीशिला डोली की 25वीं रथ यात्रा का रविवार को नगर निगम कार्यालय परिसर देहरादून में भव्य स्वागत हुआ। इससे...

25 मई को खुलेंगे हेमकुंड साहिब के कपाट

देहरादून। हेमकुंड साहिब के कपाट आगामी 25 मई को खोले जाएंगे। इसके चलते राज्य सरकार, जिला प्रशासन और गुरुद्वारा प्रबंधन ने जमीनी हालात को...

पुलिस महानिदेशक ने केदारनाथ धाम में लिया सुरक्षा व्यवस्थाओं का जायजा

रुद्रप्रयाग। उत्तराखण्ड के पुलिस महानिदेशक अभिनव कुमार केदारनाथ धाम पहंुचकर सुरक्षा व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस दौरान डीजीपी ने ड्यूटी पर तैनात पुलिस बल...

Recent Comments