Tuesday, May 28, 2024
Home उत्तराखंड एचडीएफसी बैंक का सीएसआर खर्च वित्त वर्ष 2022 में 736 करोड़ रु...

एचडीएफसी बैंक का सीएसआर खर्च वित्त वर्ष 2022 में 736 करोड़ रु रहा

देहरादून। एचडीएफसी बैंक मार्च, 2022 को समाप्त होने वाले वित्तवर्ष के लिए देश में सीएसआर दायित्व के लिए सबसे ज्यादा राशि खर्च करने वाले संगठनों में है। बैंक की इंटीग्रेटेड वार्षिक रिपोर्ट 2021-22 के अनुसार, बैंक ने इस साल सीएसआर गतिविधियों में 736 करोड़ रु. खर्च किए, जो पिछले साल के मुकाबले 15.92 प्रतिशत ज्यादा है। बैंक ने 9.6 करोड़ हितग्राहियों तक पहुंचकर अपने प्रभाव का दायरा भी बढ़ाया। सीएसआर के लिए अपने अम्ब्रेला ब्रांड, परिवर्तन के द्वारा बैंक अपने कार्यस्थल के नज़दीक स्थित समाज के जीवन की गुणवत्ता में सुधार लाना चाहता है। परिवर्तन के तहत बैंक के अभियान की निगरानी एक बोर्डस्तरीय सीएसआर एवं ईएसजी समिति करती है, जो नियमित तौर से बैंक की प्रगति का आकलन करती है। बोर्ड ने उन अभियानों का अनुमोदन किया, जो सरकार के मिशन एवं कार्यक्रमों के अनुरूप हैं। देश के सामाजिक-आर्थिक विकास में योगदान देने के उद्देश्य से बैंक शिक्षा, कौशल प्रशिक्षण एवं आजीविका सुधार, स्वास्थ्य सेवा, खेल, पर्यावरण के प्रति सस्टेनेबिलिटी, और ग्रामीण विकास के क्षेत्रों में काम करता है। आशिमा भट्ट, ग्रुप हेड बिज़नेस फाईनेंस एवं स्ट्रेट्जी, एडमिनिस्ट्रेशन, इन्फ्रास्ट्रक्चर, ईएसजी एवं सीएसआर ने कहा कि एचडीएफसी बैंक दीर्घकालिक सस्टेनेबल वृद्धि के लिए प्रतिबद्ध है और अपने मूल उद्देश्य में सस्टेनेबिलिटी को अपना चुका है। हम ग्लोबल सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स में अपना योगदान देते हुए समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाना चाहते हैं। शिक्षा, स्वच्छता, आजीविका, और कौशल विकास में सतत कार्यक्रमों द्वारा हम 9.6 करोड़ से ज्यादा भारतीयों को लाभ पहुंचा चुके हैं। हम वित्तवर्ष 2032 तक कार्बन न्यूट्रल बनने और उत्सर्जन, ऊर्जा और पानी के उपयोग में कमी लाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। अपने अंशधारकों के साथ मिलकर हम एक भविष्य के बैंक का निर्माण कर रहे हैं, जो समय की कसौटी पर खरा उतरे। बैंक के सामाजिक अभियान संयुक्त राष्ट्र की जनरल असेंबली की ओर से 2015 में बनाए गए सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (एसडीजी) के अनुरूप हैं, जिनमें खास गरीबी कम करने, जीरो हंगर प्राप्त करने, स्वच्छ पानी और साफ-सफाई, गुणवत्ता युक्त शिक्षा और सतत समुदायों का निर्माण करने के लक्ष्य हैं।

 

RELATED ARTICLES

डीएम ने ली मतगणना तैयारियों की समीक्षा बैठक

देहरादून। जिलाधिकारी व जिला निर्वाचन अधिकारी सोनिका ने ऋषिपर्णा सभागार कलेक्टेªट में मतगणना तैयारियों की समीक्षा बैठक लेते हुए सम्बन्धित नोडल अधिकारियों को आवश्यक...

डीएम ने यमुनोत्री यात्रा मार्ग के विभिन्न पड़ावों का निरीक्षण किया

उत्तरकाशी। जिलाधिकारी डॉ. मेहरबान सिंह बिष्ट यात्रा व्यवस्थाओं को चाक-चैबंद बनाये रखने के लिए आज लगातार तीसरे दिन भी यमुनोत्री यात्रा मार्ग के विभिन्न...

अवैध बस्तियों पर बुलडोजर चलना शुरू

देहरादून। प्रदेश की राजधानी दून में अवैध बस्तियों पर अतिक्रमण करके बनाई गई अवैध कॉलोनियों पर सोमवार से बुलडोजर चलना शुरू हो गया है।...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

डीएम ने ली मतगणना तैयारियों की समीक्षा बैठक

देहरादून। जिलाधिकारी व जिला निर्वाचन अधिकारी सोनिका ने ऋषिपर्णा सभागार कलेक्टेªट में मतगणना तैयारियों की समीक्षा बैठक लेते हुए सम्बन्धित नोडल अधिकारियों को आवश्यक...

डीएम ने यमुनोत्री यात्रा मार्ग के विभिन्न पड़ावों का निरीक्षण किया

उत्तरकाशी। जिलाधिकारी डॉ. मेहरबान सिंह बिष्ट यात्रा व्यवस्थाओं को चाक-चैबंद बनाये रखने के लिए आज लगातार तीसरे दिन भी यमुनोत्री यात्रा मार्ग के विभिन्न...

अवैध बस्तियों पर बुलडोजर चलना शुरू

देहरादून। प्रदेश की राजधानी दून में अवैध बस्तियों पर अतिक्रमण करके बनाई गई अवैध कॉलोनियों पर सोमवार से बुलडोजर चलना शुरू हो गया है।...

कार ने ई रिक्शा को मारी टक्कर, 5 लोग गंभीर रूप से घायल

ऋषिकेश। एम्स के निकट एक कार और ई रिक्शा के बीच जबरदस्त भिड़ंत हो गई। इस दुर्घटना में रिक्शा सवार एक महिला सहित पांच...

Recent Comments