Thursday, June 20, 2024
Home उत्तराखंड कमिंस इंडिया और बीआईटीएस पिलानी डिजिटल युग की निर्माण तकनीकों की दक्षता...

कमिंस इंडिया और बीआईटीएस पिलानी डिजिटल युग की निर्माण तकनीकों की दक्षता प्रदान करने के प्रति प्रयासरत

देहरादून। कमिंस इंडिया, बीआईटीएस पिलानी वर्क इंटीग्रेटेड लर्निंग प्रोग्राम्स (डब्लुआईएलपी) डिवीजन की सहभागिता में शिक्षण कार्यक्रमों के माध्यम से कर्मचारियों में निरंतर सीखने और अपस्किलिंग की संस्कृति को बढ़ावा दे रहे हैं। कमिंस इंडिया द्वारा प्रायोजित, ये बी.टेक और एम.टेक प्रोग्राम इंट्री-लेवल और शॉप फ्लोर कर्मचारियों को पेशेवर डिग्री, नए जमाने की पॉवर-स्किल्स तथा इंडस्ट्री संबंधित ज्ञान देकर उनके करियर की नीव सशक्त करते हैं।
अगस्त 2017 में कमिंस इंडिया के 40 कर्मचारियों के पायलट बैच के बी.टेक प्रोग्राम में नामांकित होने के साथ ये साझेदारी शुरू हुई थी। इसके बाद, दो बैचों में कुल मिलाकर 85 कर्मचारी सफलतापूर्वक बी.टेक तथा एम.टेक की डिग्री हासिल कर चुके हैं। दोनों प्रोग्राम में भाग लेने वाले कर्मचारी, मैन्युफैक्चरिंग, इंजीनियरिंग, पर्चेज़िंग, क्वालिटी, मार्केटिंग और सप्लाई चेन जैसे महत्वपूर्ण विभागों से नामांकित किये गए हैं ।
बीआईटीएस पिलानी डब्लुआईएलपी, कमिंस इंडिया के लिए एक प्रतिष्ठित प्रोग्राम है क्योंकि यह कर्मचारियों को अपने करियर में ब्रेक लिए बिना ही भारत के एक विख्यात संस्थान से इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल करने का सपना पूरा करवाता है। यह प्रोग्राम उन्हें एक्सपोजर और दक्षता भी प्रदान करता है जो उनके व्यक्तिगत और व्यावसायिक विकास हेतु बहुत महत्वपूर्ण है। बीआईटीएस पिलानी डब्लुआईएलपी ने आईटी और आटीईएस, ऑटोमोटिव, मैन्युफैक्चरिंग, फार्मा, केमिकल्स, मेटल्स और माइनिंग जैसी इंडस्ट्रीज में 1,00,000 से अधिक कामकाजी पेशेवरों को करियर बढ़ाने वाले कौशल से सशक्त किया है।
इस साझेदारी के बारे में बात करते हुए और निरंतर सीखने व अपस्किलिंग के महत्व को रेखांकित करते हुए कमिंस इंडिया की ह्यूमन रिसोर्स लीडर अनुपमा कौल ने कहा, “अपनी ’हायर टू डेवलपमेंट’ वाली धारणा के अनुसार और कमिंस को एक विकास केंद्रित संगठन बनाने के लिए हम विभिन्न तरीकों से अपने कर्मचारियों का विकास करने में लगातार निवेश करते रहते हैं। ऐसी कई पहलों में से एक है- अपने कर्मचारियों के लिए स्पॉन्सर्ड एज्यूकेशन प्रोग्राम्स में निवेश करना, जिसमें औपचारिक शिक्षा जारी रखने वाला सुविधापूर्ण विकल्प शामिल है। हमारे कर्मचारियों को सीखने का समग्र अनुभव प्रदान हेतु डिजाइन किए गए बीआईटीएस पिलानी के अनूठे वर्क इंटीग्रेटेड लर्निंग प्रोग्राम्स (डब्लुआईएलपी) के लिए हुई इस सहभागिता पर हमें गर्व है। हमारे कर्मचारी इन शिक्षण कार्यक्रमों को बहुत महत्व देते हैं और इन कार्यक्रमों से उन्होंने भारी लाभ भी उठाया है।“

RELATED ARTICLES

अधिकारी 100 दिनों के भीतर नेट बैंकिंग की दिशा में आगे बढ़ेः सहकारिता मंत्री

देहरादून। सहकारिता मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा है कि राज्य के सभी जिला सहकारी बैंक अधिकारी अगले 100 दिनों के भीतर नेट...

राज्यपाल ने काकड़ीघाट स्थित ज्ञान वृक्ष (पीपल) में जलाभिषेक किया व ध्यान भी लगाया

नैनीताल/अल्मोड़ा। राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह(से नि) ने अल्मोड़ा के काकड़ीघाट स्थित ज्ञान वृक्ष (पीपल) में जलाभिषेक किया तथा ध्यान कक्ष में ध्यान भी...

निर्माण कार्यों में गुणवत्ता के साथ समझौता नहीं किया जाएगाः मंत्री सतपाल महाराज

हरिद्वार। जनपद प्रभारी मंत्री सतपाल महाराज की अध्यक्षता में सीसीआर सभागार में जिला योजना समिति की बैठक आयोजित की गई। समिति द्वारा जिला योजना...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

अधिकारी 100 दिनों के भीतर नेट बैंकिंग की दिशा में आगे बढ़ेः सहकारिता मंत्री

देहरादून। सहकारिता मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा है कि राज्य के सभी जिला सहकारी बैंक अधिकारी अगले 100 दिनों के भीतर नेट...

राज्यपाल ने काकड़ीघाट स्थित ज्ञान वृक्ष (पीपल) में जलाभिषेक किया व ध्यान भी लगाया

नैनीताल/अल्मोड़ा। राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह(से नि) ने अल्मोड़ा के काकड़ीघाट स्थित ज्ञान वृक्ष (पीपल) में जलाभिषेक किया तथा ध्यान कक्ष में ध्यान भी...

निर्माण कार्यों में गुणवत्ता के साथ समझौता नहीं किया जाएगाः मंत्री सतपाल महाराज

हरिद्वार। जनपद प्रभारी मंत्री सतपाल महाराज की अध्यक्षता में सीसीआर सभागार में जिला योजना समिति की बैठक आयोजित की गई। समिति द्वारा जिला योजना...

डीएम की अध्यक्षता में हुई राजकीय जिला चिकित्सालय प्रबन्धन समिति की बैठक

देहरादून। जिलाधिकारी सोनिका की अध्यक्षता में जिलाधिकारी कैम्प कार्यालय में राजकीय जिला चिकित्सालय प्रबन्धन समिति, राजकीय सेन्ट मैरीज चिकित्सालय मसूरी, राजकीय संयुक्त चिकित्सालय प्रेमनगर...

Recent Comments