Saturday, June 15, 2024
Home उत्तराखंड काकभुशुंडी पर्वत लेक में फंसे पांच ट्रैकर, रेस्क्यू कर बचाया गया

काकभुशुंडी पर्वत लेक में फंसे पांच ट्रैकर, रेस्क्यू कर बचाया गया

चमोली। उत्तराखंड के चमोली जनपद में काकभुशुंडी पर्वत लेक में पांच ट्रैकर फंस गए थे। उन्हें सकुशल रेस्क्यू किया गया। श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के उपाध्यक्ष किशोर पंवार की सक्रियता से डैक्कन कंपनी के हेलीकाप्टर ने ट्रैकरों की जान बचाई। प्राप्त जानकारी के मुताबिक, हेली कोआर्डिनेटर विनीत सनवाल को संदेश मिला कि काकभुशुंडी पर्वत लेक में पांच ट्रैकर फंसे हुए हैं। उन्हे रेस्क्यू की जरूरत है। यह सूचना उन्होंने मंदिर समिति उपाध्यक्ष किशोर पंवार को दी। मंदिर समिति मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़ ने बताया कि मंदिर समिति उपाध्यक्ष ने डैक्कन चार्टर हेली सेवा कंपनी के मैनैजर दीपक शर्मा से बहुत कम दर पर शाटिंग के अनुसार रेस्क्यू कार्य शुरू करवाकर ट्रैकरों की जान बचाई।
इस अभियान को पायलट एनए विनोद ने संचालित किया। गुड़गांव हरियाणा निवासी ट्रेकर गौरव शर्मा, रितुराज, धीरेंद्र सिंह, डा. अंजू और चेतना नेगी को रेस्क्यू कर गोविंदघाट हेलीपैड लाकर गंतव्य को भेजा गया। मंदिर समिति उपाध्यक्ष किशोर पंवार ने बताया कि स्थानीय स्तर पर डैक्कन चार्टर कंपनी द्वारा रेस्क्यू कार्य किये जाते रहे है, जिसकी लोगों ने प्रशंसा की है। मध्यमेश्वर-पांडवसेरा ट्रैक पर फंसे ट्रैकर्स दल के छह सदस्यों को तीसरे दिन वायु सेना की टीम ने रेस्क्यू कर लिया। इनमें तीन पोर्टर हैं। ट्रैकर्स उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में एक न्यूज चैनल से जुड़े बताए गए। प्राथमिक उपचार के बाद सभी अपने घर के लिए रवाना हो गए। इस बीच, केदारनाथ वन प्रभाग के डीएफओ ने बिना अनुमति के प्रतिबंधित वन क्षेत्र में जाने का संज्ञान लेते हुए रेंज अधिकारी को इस मामले में कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। उच्च हिमालयी क्षेत्र में ट्रैकर नियम ताक पर रख पहुंच रहे हैं। प्रशासन, पुलिस, पर्यटन विभाग व वन विभाग को ट्रैकिंग पर गए दल के बारे में कोई जानकारी नहीं होती है। बीते आठ वर्षों में इन उच्च हिमालयी ट्रैक रूट पर 12 से अधिक ट्रैकिंग दल फंस चुके हैं। 2015 में दो, 2017 में पांच और 2018 में एक ट्रैकर को गंवानी जान पड़ी थी।

RELATED ARTICLES

महाराज ने आपदा प्रभावित ग्राम सुकई के परिवारों को राहत सामग्री वितरित की

पौड़ी। विधानसभा क्षेत्र चैबट्टाखाल के तहसील बीरोंखाल के अन्तर्गत ग्राम सुकई में गत माह आयी आपदा से प्रभावित परिवारों को क्षेत्रीय विधायक प्रदेश के...

उत्तराखंड के सरकारी अस्पतालों में लागू होगा एक पर्ची सिस्टम

रुद्रप्रयाग। उत्तराखंड के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने गुरुवार को रुद्रप्रयाग मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय में जिले में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध...

पेयजल किल्लत को लेकर नगर पालिका बडकोट में हल्ला बोल

बड़़कोट। नगर पालिका बड़कोट में पेयजल किल्लत को लेकर चल रहा धरना अब अपना उग्र रूप लेता जा रहा है। आठ दिनों से तहसील...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

महाराज ने आपदा प्रभावित ग्राम सुकई के परिवारों को राहत सामग्री वितरित की

पौड़ी। विधानसभा क्षेत्र चैबट्टाखाल के तहसील बीरोंखाल के अन्तर्गत ग्राम सुकई में गत माह आयी आपदा से प्रभावित परिवारों को क्षेत्रीय विधायक प्रदेश के...

उत्तराखंड के सरकारी अस्पतालों में लागू होगा एक पर्ची सिस्टम

रुद्रप्रयाग। उत्तराखंड के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने गुरुवार को रुद्रप्रयाग मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय में जिले में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध...

पेयजल किल्लत को लेकर नगर पालिका बडकोट में हल्ला बोल

बड़़कोट। नगर पालिका बड़कोट में पेयजल किल्लत को लेकर चल रहा धरना अब अपना उग्र रूप लेता जा रहा है। आठ दिनों से तहसील...

शैक्षिक भ्रमण पर आए सीआरपीएफ के प्रशिक्षु अधिकारियों ने सीएस से की भेंट

देहरादून। मुख्य सचिव राधा रतूड़ी से सचिवालय में शैक्षिक भ्रमण पर उत्तराखंड आए सीआरपीएफ के प्रशिक्षु अधिकारियों ने शिष्टाचार भेंट की। मुख्य सचिव तथा...

Recent Comments