Friday, May 24, 2024
Home उत्तराखंड टोयोटा समूह ने बड़े निवेश के लिए कर्नाटक सरकार के साथ समझौता...

टोयोटा समूह ने बड़े निवेश के लिए कर्नाटक सरकार के साथ समझौता ज्ञापन पर किए हस्ताक्षर

देहरादून। देश के मेक इन इंडिया विजन में योगदान करने और कार्बन उत्सर्जन में तेजी से कमी लाने के अपने प्रयास में टोयोटा समूह की कंपनियों ने 4,800 करोड़ रुपये के अपने कुल निवेश में से 4,100 करोड़ रुपये के निवेश के लिए कर्नाटक सरकार के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर दस्तखत करने की घोषणा की है। यह घोषणा लाखों ग्राहकों का दिल जीतकर भारत में 25 साल की यात्रा पूरी होने की टोयोटा किर्लाेस्कर मोटर की सफलता से मेल खाती है। टोयोटा समूह की कंपनियों में टोयोटा किर्लाेस्कर मोटर और टोयोटा किर्लाेस्कर ऑटो पाट्र्स शामिल हैं।
स्थानीय विनिर्माण पारिस्थितिकी तंत्र को बढ़ावा देने के अलावा, नया विकास रोजगार सृजन और स्थानीय सामुदायिक विकास को गति प्रदान करेगा। यह निवेश स्थानीय आपूर्तिकर्ता आधार के विस्तार को भी बढ़ावा देगा। इसके परिणामस्वरूप ज्यादा निवेश होगा तथा रोजगार सृजन भी होगा।
एमओयू का आदान-प्रदान कर्नाटक के माननीय मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई और श्री विक्रम एस किर्लाेस्कर, वाइस-चेयरमैन, टोयोटा किर्लाेस्कर मोटर के बीच हुआ। एमओयू हस्ताक्षर समारोह के इस महत्वपूर्ण मौके पर कर्नाटक के बड़े व मध्यम उद्योगों के मंत्री डॉ. मुरुगेश आर. निरानी, रवि कुमार, आईएएस, कर्नाटक राज्य के मुख्य सचिव और कई अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। इस संबंध में हुए समझौते के भाग के रूप में टोयोटा समूह की कंपनीज भारत को एक आत्मनिर्भर विनिर्माण केंद्र बनाने की दिशा में व्यवस्थित रूप से निवेश करेगी। इस प्रकार सरकार के मेक इन
इंडिया और आत्म निर्भर भारत मिशन में योगदान देगी। निवेश का उद्देश्य हरित प्रौद्योगिकियों को बढ़ावा देना है जो जीवाश्म ईंधन पर निर्भरता कम करने और कार्बन उत्सर्जन को कम करने में मदद करेंगे। इस निवेश से स्थानीय उत्पादन सुविधाओं के लिए इलेक्ट्रिक पावरट्रेन पाट्र्स और घटकों का निर्माण संभव होगा और इस तरह भारत में विद्युतीकृत वाहन निर्माण की जरूरत पूरी करने में योगदान होगा। टोयोटा पर्यावरण चुनौती 2050 के एक भाग के रूप में, टोयोटा टेलपाइप उत्सर्जन से परे जाकर कार्बन उत्सर्जन को कम करने पर ध्यान केंद्रित करना जारी रखेगी, ताकि 2050 तक कार्बन तटस्थता लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए विनिर्माण और जीवनचक्र में सीओ2 उत्सर्जन को कम किया जा सकेगा जैसा कि पहले घोषित किया गया था।

RELATED ARTICLES

बीरोंखाल के कुणजोली में बादल फटा, महाराज ने डीएम को दिये तत्काल राहत पहुंचाने के निर्देश

पौड़ी। प्रदेश के कैबिनेट मंत्री और चैबट्टाखाल विधायक सतपाल महाराज ने जिलाधिकारी पौड़ी को विकासखंड बीरोंखाल के अंतर्गत कुणजोली में अचानक बादल फटने से...

मुख्य न्यायाधीश जस्टिस ऋतु बाहरी ने राज्यपाल से की भेंट

देहरादून। राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) से गुरुवार को राजभवन देहरादून में उत्तराखण्ड उच्च न्यायालय की मुख्य न्यायाधीश जस्टिस ऋतु बाहरी ने...

टीएचडीसी इंडिया के अध्यक्ष एवं एमडी ने टिहरी हाइड्रो परिसर का निरीक्षण किया

ऋषिकेश। टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक आर. के. विश्नोई ने टिहरी परिसर का दो दिवसीय सघन निरीक्षण दौरा किया। उनके साथ...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

बीरोंखाल के कुणजोली में बादल फटा, महाराज ने डीएम को दिये तत्काल राहत पहुंचाने के निर्देश

पौड़ी। प्रदेश के कैबिनेट मंत्री और चैबट्टाखाल विधायक सतपाल महाराज ने जिलाधिकारी पौड़ी को विकासखंड बीरोंखाल के अंतर्गत कुणजोली में अचानक बादल फटने से...

मुख्य न्यायाधीश जस्टिस ऋतु बाहरी ने राज्यपाल से की भेंट

देहरादून। राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) से गुरुवार को राजभवन देहरादून में उत्तराखण्ड उच्च न्यायालय की मुख्य न्यायाधीश जस्टिस ऋतु बाहरी ने...

टीएचडीसी इंडिया के अध्यक्ष एवं एमडी ने टिहरी हाइड्रो परिसर का निरीक्षण किया

ऋषिकेश। टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक आर. के. विश्नोई ने टिहरी परिसर का दो दिवसीय सघन निरीक्षण दौरा किया। उनके साथ...

सिम्मी थापा और भूमि शर्मा बने मिस टैलेंटेड

देहरादून। सिनमिट कम्युनिकेशन्स की ओर से आयोजित कमल ज्वेलर्स-ब्लेंडर्स प्राइड मिस उत्तराखंड-2024 के मिस टैलेंटेड और मिस बॉलीवुड सब कांटेस्ट का आयोजन किया गया।...

Recent Comments