Friday, June 21, 2024
Home उत्तराखंड पानी और मिट्टी ही भारत की मुख्य संपत्तिः संगीता थपालियाल

पानी और मिट्टी ही भारत की मुख्य संपत्तिः संगीता थपालियाल

देहरादून। ईशा फाउंडेशन के मीडिया समन्वयक संगीता थपलियाल ने कहा कि फाउंडेशन के संस्थापक सदगुरु जग्गवासुदेव 65 साल का बूढा व्यक्ति एक महीने से बर्फीले ठंड और बारिश मे लगातार बाईक से यात्रा कर रहे है और विभिन्न देशों में सेमिनार मे भाग लेकर देश दुनिया को जागरूक करने के लिये प्रयासरत हैं। इस उम्र मे शरीर को इतना कष्ट देने के पीछे पैसा और प्रसिद्धी तो नही ही होगी। यकीनन ये धरती मां के प्रति कर्तव्य परायणता ही होगी।
उन्होंने कहा कि भारत जैसे देश में जहां 60 फीसदी आबादी आज भी गांवों में रहती है, जिसकी अर्थव्यवस्था आज भी खेती पर आधारित है उस देश की मुख्य संपत्ति पानी और मिट्टी है। उन्होंने बताया कि सदगुरु जग्गी वासुदेव कहते है कि अगर हम इस बात को भूल गए तो हमें ये सबक याद दिलाया जाएगा। उन्होंने बताया कि सदगुरु बताते है कि लोग मुझसे पूछते हैं कि आपने कावेरी नदी को लेकर अभियान क्यों शुरू किया है इस सवाल का जवाब देते हुए पिछले 20 सालों 3 लाख किसान खुदकुशी कर चुके हैं। कावेरी और आस-पास की भूमि का जिक्रकरते हुए उन्होंने कहा कि ये दुनिया की सबसे उपजाऊ जमीन हुआ करती थी। मनुष्य अनादिकाल से जानता है। धरती, जिस पर वह हल चलाता है, खेत जिसमें वह फसलें उगाता है और घर जिसमें वह रहता है, ये सभी हमें मिट्टी की याद दिलाते हैं। किंतु मिट्टी के संबंध में हमारा ज्ञान प्रायरू नहीं के बराबर है। यह सभी जानते हैं कि अनाज और फल मिट्टी में उपजाते हैं और यह उपज खाद एवं उर्वरकों के उपयोग से बढ़ाई जा सकती है, लेकिन मिट्टी के अन्य विशेषताओं के बारे में, जिनसे हम सड़क, भवन, धावनपथ तथा बंधों का निर्माण करते हैं, हमारा ज्ञान बहुत कम है। थपलियाल ने कहा कि मिट्टी के व्यवहार को भली प्रकार से समझने के लिये मिट्टी के रासायनिक और भौतिक संघटन का ज्ञान आवश्यक है।

RELATED ARTICLES

अधिकारी 100 दिनों के भीतर नेट बैंकिंग की दिशा में आगे बढ़ेः सहकारिता मंत्री

देहरादून। सहकारिता मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा है कि राज्य के सभी जिला सहकारी बैंक अधिकारी अगले 100 दिनों के भीतर नेट...

राज्यपाल ने काकड़ीघाट स्थित ज्ञान वृक्ष (पीपल) में जलाभिषेक किया व ध्यान भी लगाया

नैनीताल/अल्मोड़ा। राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह(से नि) ने अल्मोड़ा के काकड़ीघाट स्थित ज्ञान वृक्ष (पीपल) में जलाभिषेक किया तथा ध्यान कक्ष में ध्यान भी...

निर्माण कार्यों में गुणवत्ता के साथ समझौता नहीं किया जाएगाः मंत्री सतपाल महाराज

हरिद्वार। जनपद प्रभारी मंत्री सतपाल महाराज की अध्यक्षता में सीसीआर सभागार में जिला योजना समिति की बैठक आयोजित की गई। समिति द्वारा जिला योजना...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

अधिकारी 100 दिनों के भीतर नेट बैंकिंग की दिशा में आगे बढ़ेः सहकारिता मंत्री

देहरादून। सहकारिता मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा है कि राज्य के सभी जिला सहकारी बैंक अधिकारी अगले 100 दिनों के भीतर नेट...

राज्यपाल ने काकड़ीघाट स्थित ज्ञान वृक्ष (पीपल) में जलाभिषेक किया व ध्यान भी लगाया

नैनीताल/अल्मोड़ा। राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह(से नि) ने अल्मोड़ा के काकड़ीघाट स्थित ज्ञान वृक्ष (पीपल) में जलाभिषेक किया तथा ध्यान कक्ष में ध्यान भी...

निर्माण कार्यों में गुणवत्ता के साथ समझौता नहीं किया जाएगाः मंत्री सतपाल महाराज

हरिद्वार। जनपद प्रभारी मंत्री सतपाल महाराज की अध्यक्षता में सीसीआर सभागार में जिला योजना समिति की बैठक आयोजित की गई। समिति द्वारा जिला योजना...

डीएम की अध्यक्षता में हुई राजकीय जिला चिकित्सालय प्रबन्धन समिति की बैठक

देहरादून। जिलाधिकारी सोनिका की अध्यक्षता में जिलाधिकारी कैम्प कार्यालय में राजकीय जिला चिकित्सालय प्रबन्धन समिति, राजकीय सेन्ट मैरीज चिकित्सालय मसूरी, राजकीय संयुक्त चिकित्सालय प्रेमनगर...

Recent Comments