Wednesday, April 17, 2024
Home उत्तराखंड भारतीय वानिकी अनुसंधान और शिक्षा परिषद सोसायटी, देहारादून की 28वीं वार्षिक बैठक

भारतीय वानिकी अनुसंधान और शिक्षा परिषद सोसायटी, देहारादून की 28वीं वार्षिक बैठक

देहरादून। भारतीय वानिकी अनुसंधान और शिक्षा परिषद पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय, भारत सरकार के तहत एक स्वायत्त परिषद है। पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री आईसीएफआरई सोसायटी के अध्यक्ष हैं और महानिदेशक इसके मुख्य कार्यकारी हैं। केंद्रीय मंत्री, पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन, भारत सरकार की अध्यक्षता में सामान्य निकाय आईसीएफआरई का सर्वाेच्च प्राधिकरण है। इसके सदस्यों में विभिन्न राज्य सरकारों, शैक्षणिक संस्थानों और वैज्ञानिक संगठनों के सेवारत और सेवानिवृत्त अधिकारी शामिल हैं। सोसायटी वर्ष में एक बार अपनी बैठक में समाज की घटक इकाइयों की प्रगति और प्रदर्शन की समीक्षा करती है और ऐसे नीति निर्देश देती है जो वह बोर्ड ऑफ गवर्नर्स और इकाइयों और सोसायटी की संविधान इकाइयों को उचित समझे।
सोसाइटी के सदस्यों की जानकारी के लिए बोर्ड ऑफ गवर्नर्स द्वारा तैयार गई सोसाइटी के कामकाज और इसकी घटक इकाइयों द्वारा किए गए सभी कार्यों पर एक वार्षिक रिपोर्ट और साथ में ऑडिट किए गए खातों और ऑडिटर की रिपोर्ट को सोसाइटी के सामने रखा गया। अपनी वार्षिक आम बैठक में सोसायटी के समक्ष समिति द्वारा रिपोर्ट को अपनाने के बाद, सदस्य सचिव रिपोर्ट को संसद के सदनों के पटल पर रखने के लिए भारत सरकार को अग्रेषित किया जाता है। तदनुसार, आईसीएफआरई की 28 वीं वार्षिक आम बैठक आज बोर्ड रूम में 9.30 बजे आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता भूपेंद्र यादव मंत्री, पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन, भारत सरकार ने की, जो भारतीय वानिकी अनुसंधान और शिक्षा परिषद सोसाइटी के अध्यक्ष भी हैं। भूपेंद्र यादव और अन्य गणमान्य अतिथियों का स्वागत अरुण सिंह रावत, महानिदेशक, आईसीएफआरई और भारतीय वानिकी अनुसंधान और शिक्षा परिषद सोसायटी के सदस्य सचिव ने किया। इसके बाद सी.पी. गोयल डीजीएफ और एसएस, एमओएफसीसी एवं अश्विनी कुमार चैबे, राज्य पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रलाय माननीय मंत्री ने भी सभा को संबोधित किया। तत्पश्चात मंत्री भूपेंद्र यादव ने सभा को संबोधित किया। इसके उपरांत ए.एस. रावत, महा निदेशक, भारतीय वानिकी अनुसंधान और शिक्षा परिषद ने परिषद की प्रमुख पहल और उपलब्धियों पर एक प्रस्तुति दी। एजेंडा के अनुसार 27वीं वार्षिक आम बैठक के कार्यवृत की पुष्टि की गई। तत्पश्चात वर्ष 2020-21 के लिए आईसीएफआरई की वार्षिक रिपोर्ट एजीएम में वर्ष के वार्षिक लेखा परीक्षित खाते के साथ प्रस्तुत की गई थी। वर्ष 2020-21 की वार्षिक रिपोर्ट वर्ष के दौरान वानिकी, पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन के विभिन्न क्षेत्रों में किए गए अनुसंधान, शिक्षा और विस्तार गतिविधियों का एक संक्षिप्त विवरण है। यह भारतीय वानिकी अनुसंधान और शिक्षा परिषद संस्थानों द्वारा शुरू की गई परियोजनाओं पर चर्चा करता है।

RELATED ARTICLES

एमडीडीए उपाध्यक्ष ने ली प्राधिकरण की समीक्षा बैठक, दिए कई महत्वपूर्ण निर्देश

देहरादून। एमडीडीए उपाध्यक्ष बंशीधर तिवारी की अध्यक्षता में सोमवार को प्राधिकरण सभागार में एक समीक्षा बैठक आयोजित की गई, जिसमें उपाध्यक्ष श्री तिवारी द्वारा...

तीन साल की बच्ची चोरी, सीसीटीवी फुटेज आया सामने

हरिद्वार। हरकी पैड़ी से लापता संभल (यूपी) की तीन वर्षीय मासूम के मामले में नया मोड़ आ गया है। सीसीटीवी फुटेज में सामने आया...

अंतिम दौर के रेंडमाइजेशन की प्रक्रिया संपन्न

उत्तरकाशी। लोक सभा चुनाव के लिए जिले में मतदान केन्द्रों पर कार्मिकों तथा माईक्रो ऑब्जर्वर्स की तैनाती हेतु अंतिम दौर के रेंडमाईजेशन की प्रक्रिया...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

एमडीडीए उपाध्यक्ष ने ली प्राधिकरण की समीक्षा बैठक, दिए कई महत्वपूर्ण निर्देश

देहरादून। एमडीडीए उपाध्यक्ष बंशीधर तिवारी की अध्यक्षता में सोमवार को प्राधिकरण सभागार में एक समीक्षा बैठक आयोजित की गई, जिसमें उपाध्यक्ष श्री तिवारी द्वारा...

तीन साल की बच्ची चोरी, सीसीटीवी फुटेज आया सामने

हरिद्वार। हरकी पैड़ी से लापता संभल (यूपी) की तीन वर्षीय मासूम के मामले में नया मोड़ आ गया है। सीसीटीवी फुटेज में सामने आया...

अंतिम दौर के रेंडमाइजेशन की प्रक्रिया संपन्न

उत्तरकाशी। लोक सभा चुनाव के लिए जिले में मतदान केन्द्रों पर कार्मिकों तथा माईक्रो ऑब्जर्वर्स की तैनाती हेतु अंतिम दौर के रेंडमाईजेशन की प्रक्रिया...

लोकसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर समीक्षा बैठक आयोजित

हरिद्वार। एसएसपी प्रमेन्द्र डोबाल की अध्यक्षता में पुलिस लाइन रोशनाबाद स्थित सम्मेलन कक्ष में आज आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर समीक्षा बैठक...

Recent Comments