Friday, June 21, 2024
Home उत्तराखंड सदन में कांग्रेस तो बाहर संगठनों ने उत्तराखंड सरकार को घेरा

सदन में कांग्रेस तो बाहर संगठनों ने उत्तराखंड सरकार को घेरा

देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा बजट सत्र के पहले दिन विपक्षी नेताओं ने सदन में कानून व्यवस्था सुधारने और अधूरे विकास कार्य को लेकर सरकार पर तीखे सवाल दागे। वहीं, दूसरी तरफ विधानसभा के बाहर भी राज्य सरकार को घेरते हुए भू-कानून और लोक निर्माण विभाग के बेलदार आउटसोर्सिंग कर्मचारियों की मांग का मुद्दा सरकार के खिलाफ धरना प्रदर्शन वाला रहा।
विपक्ष ने राज्य में जल जंगल जमीन को संरक्षित करने के लिए हिमाचल प्रदेश की तर्ज पर भू-कानून लागू करने की मांग की। वहीं दूसरी ओर लोक निर्माण विभाग में आउटसोर्सिंग बेलदार और कर्मचारियों ने विधानसभा घेराव करने का प्रयास करते हुए ठेकेदारी प्रथा से मुक्त कर 1100 से अधिक कर्मियों को संविदा और उपनल के माध्यम से सेवायोजित करने की मांग दोहराई। इससे पहले विधानसभा सत्र के पहले दिन सदन के बाहर सरकार को घेरने के प्रयास में सैंकड़ों पीडब्ल्यूडी के बेलदार कर्मचारी संघ ने धरना प्रदर्शन किया और विधानसभा कूच करने का प्रयास किया। हालांकि, इससे पहले ही रिस्पना चैक के पास लगी बेरिकेटिंग में भारी पुलिस बल ने उन्हें रोक दिया। जिससे नाराज बेलदार कर्मचारी संघ के लोग सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए सड़क पर धरना देने के लिए बैठ गए।
प्रदर्शनकारियों ने कहा उनका पिछले 53 दिनों से आंदोलन जारी है। वहीं, धरना प्रदर्शन करते हुए लोक निर्माण विभाग मंत्री सतपाल महाराज के आवास के बाहर भी धरना दे रहे हैं, लेकिन सरकार उनकी मांग को मानना तो दूर उनकी पीड़ा को सुनने तक को राजी नहीं है।बेलदार कर्मचारियों ने कहा जहां एक तरफ प्रदेश के युवा मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी बड़े-बड़े दावे कर राज्य वासियों के हित में फैसले लेने की बात कर रहे हैं। वहीं, दूसरी तरफ लोक निर्माण विभाग के अंर्तगत विगत कई वर्षों से बेलदार कर्मचारी ठेकेदारी प्रथा से बंधुआ मजदूर की जिंदगी जीने को मजबूर हैं। सरकार से उनकी एक ही मांग है कि उन्हें भी ठेकेदारी प्रथा से मुक्त कर संविदा व उपनल के माध्यम से सेवायोजित किया जाए।
बेलदार कर्मचारी संघ के संयुक्त मंत्री तेजपाल सहा ने कहा सरकार उनकी मांगों को लेकर पूरी तरह से मूकदर्शक बनी हुई है। सरकार का अंधा कानून इस कदर ठेकेदारों पर हावी है कि जब उनकी मांग लोक निर्माण विभाग मंत्री के पास पहुंचती है तो मंत्री साहब कहते हैं कि विभागीय सचिव उनकी एक नहीं सुनते। ऐसे में अगर मंत्री महोदय की ही सचिव नहीं सुनते तो ऐसी सरकार में अंधा कानून किसकी जायज मांग को सुन सकता है। शंकर शाह के मुताबिक यह सारा खेल भ्रष्टाचार के तहत चल रहा है। जहां ठेकेदारों को संरक्षण देकर सरकार न सिर्फ बेलदार कर्मचारियों के साथ नाइंसाफी कर रही है, बल्कि सरकार को भी ठेकेदारी प्रथा से राजस्व का घाटा हो रहा है। वहीं, दूसरी तरफ विधानसभा के बाहर भू-कानून को लेकर एक बार फिर भू-अध्यादेश अधिनियम अभियान उत्तराखंड संगठन ने हिमाचल की तर्ज पर राज्य में भू कानून लागू करने की मांग को दोहराया है।

RELATED ARTICLES

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को दिये सीमांत क्षेत्रवासियों की समस्याओं के त्वरित निराकरण के निर्देश

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरूवार को सांय गुंजी में आयुक्त कुमांऊ, जिलाधिकारी पिथौरागढ़ के साथ सेना, आई.टी.बी.पी. तथा बॉर्डर रोड आर्गेनाइजेशन एवं...

केंद्रीय मंत्री यादव ने किया टिहरी और नरेंद्रनगर वन प्रभागों के वनाग्नि प्रभावित क्षेत्रों का दौरा, विभाग की तैयारियों का जायजा लिया

देहरादून। भारत सरकार के पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री श्री भूपेंद्र यादव आज 20 जून से दो दिवसीय उत्तराखंड दौरे पर हैं। इसी...

स्पीकर ऋतु खंडूड़ी ने शोध को व्यावहारिक अनुप्रयोगों में परिवर्तित करने के महत्व पर जोर दिया

देहरादून। विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खण्डूड़ी भूषण ने नेशनल कॉन्फ्रेंस ऑन लिविंग विद नेचर सॉइल, वाटर, और सोसाइटी इन इकोसिस्टम कंजर्वेशन हिमालयन कल्चरल सेंटर, देहरादून...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को दिये सीमांत क्षेत्रवासियों की समस्याओं के त्वरित निराकरण के निर्देश

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरूवार को सांय गुंजी में आयुक्त कुमांऊ, जिलाधिकारी पिथौरागढ़ के साथ सेना, आई.टी.बी.पी. तथा बॉर्डर रोड आर्गेनाइजेशन एवं...

केंद्रीय मंत्री यादव ने किया टिहरी और नरेंद्रनगर वन प्रभागों के वनाग्नि प्रभावित क्षेत्रों का दौरा, विभाग की तैयारियों का जायजा लिया

देहरादून। भारत सरकार के पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री श्री भूपेंद्र यादव आज 20 जून से दो दिवसीय उत्तराखंड दौरे पर हैं। इसी...

स्पीकर ऋतु खंडूड़ी ने शोध को व्यावहारिक अनुप्रयोगों में परिवर्तित करने के महत्व पर जोर दिया

देहरादून। विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खण्डूड़ी भूषण ने नेशनल कॉन्फ्रेंस ऑन लिविंग विद नेचर सॉइल, वाटर, और सोसाइटी इन इकोसिस्टम कंजर्वेशन हिमालयन कल्चरल सेंटर, देहरादून...

गोलीकांड के विरोध में चक्का जाम और बाजार बंद

देहरादून। नेहरूग्राम गोलीकांड को लेकर लोगों में भारी आक्रोश है। हत्या के विरोध में गुरुवार को दून बंद का आह्वान किया गया था। लोगों...

Recent Comments