Sunday, June 16, 2024
Home उत्तराखंड सिलक्यारा टनल हादसा अनुभवहीनता, निर्माण में लापरवाही व भ्रष्टाचार के कारण हुआः...

सिलक्यारा टनल हादसा अनुभवहीनता, निर्माण में लापरवाही व भ्रष्टाचार के कारण हुआः यशपाल आर्य

देहरादून। नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने आरोप लगाया कि सिलक्यारा टनल हादसा अनुभवहीनता, परियोजना निर्माण में लापरवाही और भ्रष्टाचार के कारण हुआ है। हादसे के बाद फंसे लोगों को निकालने के लिए जिन विकल्पों पर काम किया जा रहा है उन्हें इस परियोजना को शुरू करते समय ही स्थापित किया जाना चाहिए था। उन्होंने मांग की कि , यह मामला दर्जनों जानों को संकट में डालने और बड़े स्तर के भ्रष्टाचार का है इसलिए सरकार को हादसे की सीबीआई जांच कर दोषियों के विरुद्ध आपराधिक मुकदमें दर्ज करने चाहिए। नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने आज सिलक्यारा में हादसा स्थल पर पंहुच कर जिला प्रशासन , तकनीकी विशेषज्ञों , बचाव में लगी संस्थाओं, टनल के अंदर फंसे परिवारों के सदस्यों और स्थानीय लोगों से भेंट कर स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि , परियोजना के निर्माण के शुरू करते समय ही एडिट टनल और एस्केप टनलों का निर्माण किया जाना चाहिए था जो नही बनाई गई। इन टनलों के द्वारा मलबा या दुर्घटना होने की स्थिति में फंसे लोगों को निकाला जा सकता है । नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि , दुनिया की कोई भी लंबी टनल बिना एडिट टनल के नही बनती है इसलिए सरकार को साफ करना चाहिए कि 5 किलोमीटर लंबी यह टनल बिना एडिट टनल बने कैसे बन रही थी।
नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि , इस परियोजना में आपातकाल में फंसे लोगों को सुरक्षित निकालने के दूसरे विकल्प ह्यूम पाइप को भी कुछ दिन पहले निकाल दिया था। एडिट टनल या ह्यूम पाइप के न होने की स्थिति में परियोजना में काम करने वाले मजदूरों को मौत के मुंह में धकेलने का अपराध किया गया है।
यशपाल आर्य ने कहा कि , मलबा टनल के शुरुआती 70 मीटर की दूरी पर ही गिरा है लेकिन हादसे के नौ दिन बीतने के बाद अभी तक सब कुछ अनिश्चित है। बचाव कार्य के लिए जिन 6 विकल्पों की बात की जा रही है उनकी प्रगति जमीन पर अभी नहीं के बराबर दिख रही है । नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि , सरकार भले ही कितने बड़े दावे कर ले सिलक्यारा हादसे ने प्रदेश व राष्ट्रीय स्तर पर आपदा प्रबंधन की पोल खोल कर रख दी है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि इन सभी कमियों के बाद भी वे बचाव कार्य में लगे कार्मिकों की हिम्मत और मेहनत की सराहना करते हैं और ईश्वर से प्रार्थना करते हैं कि सभी फंसे हुए लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला जाए।

RELATED ARTICLES

रुड़की के बीटी गंज में घर में लगी भीषण आग

रुड़की। रुड़की में एक घर में अचानक आग लग गई। घर में आग लगने के बाद आसपास के क्षेत्र में हड़कंप मच गया। सूचना...

डकैतों व पुलिस के बीच हुई मुठभेड़, एक बदमाश को लगी गोली

देहरादून। पुलिस और बदमाशों के बीच एक बार फिर एनकाउंटर हुआ है। एनकाउंटर के बाद पुलिस ने तीन बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। एनकाउंटर...

वनकर्मियों के आश्रितों को विभाग में नौकरी दे सरकारः माहरा

देहरादून। उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने कहा कि वनाग्नि में झुलस कर मरे वनकर्मियों के परिवार को सरकार 25-25 लाख रूपये व...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

रुड़की के बीटी गंज में घर में लगी भीषण आग

रुड़की। रुड़की में एक घर में अचानक आग लग गई। घर में आग लगने के बाद आसपास के क्षेत्र में हड़कंप मच गया। सूचना...

डकैतों व पुलिस के बीच हुई मुठभेड़, एक बदमाश को लगी गोली

देहरादून। पुलिस और बदमाशों के बीच एक बार फिर एनकाउंटर हुआ है। एनकाउंटर के बाद पुलिस ने तीन बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। एनकाउंटर...

वनकर्मियों के आश्रितों को विभाग में नौकरी दे सरकारः माहरा

देहरादून। उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने कहा कि वनाग्नि में झुलस कर मरे वनकर्मियों के परिवार को सरकार 25-25 लाख रूपये व...

जंगल की आग में जिंदा जले चार वनकर्मियों की मौत पर प्रियंका गांधी ने जताया दुःख

देहरादून। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने उत्तराखंड में वनाग्नि के घटना में मरने वाले चार वनकर्मियों की मौत पर दुःख जताया है।...

Recent Comments