Wednesday, April 17, 2024
Home राष्ट्रीय कब्रिस्तान और श्मशान बनाना ही काम है भाजपा का : अरविंद केजरीवाल

कब्रिस्तान और श्मशान बनाना ही काम है भाजपा का : अरविंद केजरीवाल

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर आम आदमी पार्टी भी अपनी कमर कसे पार्टी को मजबूत करने में लगी हुई है । दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल लखनऊ मैं जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में ‘आप’ की सरकार बनी, तो 18 साल से उपर की हर महिला के खाते में हर महीने एक-एक हजार रुपए डालवाएंगे। ये लोग केवल कब्रिस्तान और श्मशान ही बना सकते हैं, अब देश को केवल स्कूल और अस्पताल चाहिए। मेरे को राजनीति करने नहीं आती है, काम करने आता है। मेरे को स्कूल-अस्पताल बनवाने आते हैं और बिजली-पानी देने आता है। ‘आप’ संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि 75 साल में इन पार्टियों ने जानबूझ कर देश को गरीब और अशिक्षित रखा, लेकिन अब यह नहीं चलेगा। हमने पांच साल में दिल्ली में सरकारी स्कूल ठीक कर दिए, तो यूपी में भी हो सकते थे, लेकिन ये लोग नहीं चाहते हैं। ‘आप’ संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पूरी दुनिया में यूपी एक ऐसा राज्य है, जहां कोरोना का प्रबंधन सबसे बुरा रहा और इनको अमेरिका की सबसे बड़ी मैगजिन में करोड़ों रुपए के इश्तिहार देने पड़े। सभी से अपील है कि आपने भाजपा, सपा, बसपा और कांग्रेस को खूब मौके दे दिए। पांच साल हमें भी देकर देखो, काम नहीं किए, तो अगली बार वोट मांगने नहीं आउंगा।

अरविंद केजरीवाल ने आज लखनऊ के स्मृति उपवन में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि 2017 के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के सबसे बड़े नेता ने आकर कहा था कि अगर उत्तर प्रदेश में कब्रिस्तान बनते हैं, तो श्मशान घाट भी बनने चाहिए। पुरानी सरकारों ने उत्तर प्रदेश में कब्रिस्तान बनवाए और योगी जी ने पिछले पांच साल में केवल और केवल श्मशाम घाट बनवाए। आज मैं आपके बीच में आया हूं, आप मुझे एक मौका दे दो, आपके बच्चों के लिए स्कूल बनवाउंगा, आपके परिवार के लिए अस्पताल बनवाउंगा। मेरे को स्कूल और अस्पताल बनवाने आते हैं, दिल्ली में बनवा कर आया हूं, उत्तर प्रदेश में भी बनवाउंगा। इनको नहीं बनवाने आते हैं। पिछले 75 साल में इन्होंने नहीं बनवाए। ये केवल कब्रिस्तान और श्मशान ही बना सकते हैं और इन्होंने ये बहुत बनवा दिए। अब बस! अब देश को केवल स्कूल और अस्पताल चाहिए। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दुख की बात यह है कि पिछले पांच साल में उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने न केवल श्मशान घाट बनवाए, बल्कि इन्होंने बहुत बड़ी संख्या में लोगों को श्मशान घाट पहुंचाने का इंतजाम भी किया। जिस तरह से कोरोना के दौरान इन्होंने कुप्रबंधन किया और इन लोगों से सरकार नहीं संभली। पूरी दुनिया में थू-थू हुई।

पूरी दुनिया में अगर एक कोई राज्य है, जहां पर सबसे बुरा कोरोना का प्रबंधन हुआ, तो वह उत्तर प्रदेश है। इनका इतना बुरा प्रबंधन था कि अमेरिका की सबसे बड़ी मैगजिन में इनको 10-15 पेज के इश्तिहार देने पड़े। योगी सरकार ने इश्तिहार देने में करोड़ों रुपए फूंक दिए। अगर आपने अच्छा काम किया है, तो आपको इश्तिहार देने की क्या जरूरत है। आज पूरे देश के किसी भी कोने में चले जाओ, एक-एक आदमी कहता है कि दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने कोरोना का प्रबंधन बहुत अच्छा किया। पूरे देश में कोने-कोने में बच्चा-बच्चा यह कहता है कि केजरीवाल ने कोरोना बड़ा अच्छा मैनेज किया। मैं यह नहीं कह रहा कि सबकुछ ठीक था। यह बहुत बड़ी महामारी थी। हमने इश्तिहार नहीं दिए कि हमने कोरोना का अच्छा प्रबंधन किया। हमने इश्तिहार में करोड़ों रुपए नहीं फूंके। आज आप में कोई भी दिल्ली चले जाओ। पूरे दिल्ली में केजरीवाल के होर्डिंग्स नहीं मिलते, योगी के होर्डिंग्स मिलते हैं। मैने गिनती करवाई है। दिल्ली में दिल्ली सरकार के 106 होर्डिंग्स लगे हुए हैं और योगी जी के 850 होर्डिंग्स लगे हुए हैं। कई बार तो मुझे लगता है कि पता नहीं ये उत्तर प्रदेश का चुनाव लड़ रहे हैं या दिल्ली का चुनाव लड़ रहे हैं। इन्होंने आपके खून-पसीने की कमाई का पैसा, जो आप टैक्स के रूप में देते हो, वह करोड़ों रुपए इन्होंने इश्तिहारबाजी में फूंक दिए।

क्योंकि इनसे सरकार नहीं चली। इन्होंने पांच साल में केवल श्मशान घाट बनाए और जनता को श्मशान घाट भेजने का इंतजाम किया। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मैं बाबा साहब डॉ. अंबेडकर का बहुत बड़ा पूजारी हूं। मैं बाबा साहब अंबेडकर को पूजता हूं। मैं जितना उनके जीवन के बारे में पढ़ता हूं, उतना मन में ताज्जुब होता है कि ऐसा आदमी हो सकता है क्या? ऐसा इंसान था क्या दुनिया के अंदर? बेहद गरीब घर में जन्में, बचपन से छुआछूत को बर्दाश्त की। अन्याय बर्दाश्त किया और अंग्रेजों के जमाने में विदेशों से एक अमेरिका और एक लंदन से, दो-दो पीएचडी की डिग्री लेकर आए थे। आज भी लंदन से पीएचडी की डिग्री लानी बड़ी मुश्किल है। पैसे खत्म होने के कारण बीच में बाबा साहब की डिग्री छूट गई और वे वापस आए। यहां पर पैसे कमाए और फिर अपनी डिग्री पूरी करने के लिए लंदन गए। उन्होंने 60 विषयों में एमए की थी। उन्होंने भारत का संविधान लिखा, यह तो सभी जानते हैं। बाबा साहब का एक सपना था। बाबा साहब यह समझ गए थे कि समाज को बराबरी तभी मिलेगी, जब हर बच्चा अच्छी शिक्षा पाएगा। सबको शिक्षा पाना जरूरी है। बाबा साहब का सपना था, इस देश के हर बच्चे को, चाहे वो गरीब के घर में जन्मे, चाहे वो दलित के घर में जन्मे, चाहे वो एससी के घर में जन्मे, चाहे वो ब्राह्मण के घर में जन्में, इस देश में जो भी बच्चा जन्में उसको अच्छी शिक्षा मिलनी चाहिए। आज 70 साल बाद भी वह सपना पूरा नहीं कर पाए। मैंने कसम खाई है, बाबा साहब का सपना मैं पूरा करूंगा। मेरा पूरा जीवन, मेरी पूरी जिंदगी बाबा साहब का यह सपना पूरा करने में चली जाए, तो मैं अपने जीवन को सार्थक मानूंगा।

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में सरकार चलाते हुए अब हमको सात साल हो गए। इन सात सालों में एक ही चीज सीखा हूं, 75 साल में इन पार्टियों ने जानबूझ कर देश को गरीब और अशिक्षित रखा है, ताकि हम इनकी रैलियों में जाते रहें, हम इनके वोट बैंक बनते रहे। हमें पढऩे नहीं दिया, और जानबूझ कर सरकारी स्कूल इन्होंने खराब रखे। जानबूझ कर इन लोगों ने हमें अनपढ़ रखा। पांच साल में हमने दिल्ली में सरकारी स्कूल ठीक कर दिए, तो यूपी में नहीं हो सकते थे! यूपी में भी हो सकते थे, ये लोग करना नहीं चाहते हैं। ये लोग जानबूझ कर हमको अनपढ़ रखा है। लेकिन अब नहीं चलेगा। अब जनता खड़ी हो गई है। उत्तर प्रदेश में भी अभी थोड़े दिन पहले मनीष सिसोदिया जी आए। उन्होंने कहा कि हमारी उत्तर प्रदेश में सरकार बनी तो हम स्कूल अच्छे करेंगे। इस पर यूपी के शिक्षा मंत्री ने उनको डिबेट के लिए चुनौती दी। यूपी के शिक्षा मंत्री ने कहा कि हमारे स्कूल बड़े अच्छे हैं, आकर देखो। इस पर मनीष जी देखने के लिए आए, तो लखनउ का पुलिस कमिश्नर भेज दिया कि मनीष सिसोदिया को गाड़ी से नीचे मत उतरने देना। इसका मतलब स्कूल ज्यादा ही खराब हैं। मैं योगी आदित्यनाथ जी को आमंत्रित करता हूं, दिल्ली में आओ, जो मर्जी स्कूल देख लो।

योगी जी ने पांच साल सरकार चला ली और इनसे स्कूल ठीक हुए नहीं। अगर उत्तर प्रदेश वालों को अच्छे स्कूल चाहिए, तो एक मौका आम आदमी पार्टी को दे दो और अगर खराब स्कूल चाहिए तो इनको दोबारा वोट दे देना। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में आजकल 24 घंटे बिजली आती है। जब 2015 में हमारी सरकार बनी, तब 8 से 10 घंटे के पावर कट लगा करते थे। अब हमने दिल्ली में सारी व्यवस्था ठीक कर दी है और 24 घंटे बिजली आती है। पांच साल में योगी जी से तो हुआ नहीं। मैंने सुना है कि योगी जी के पहले चार-चार घंटे पावर कट लगा करते थे। अब योगी जी के समय में आठ-आठ घंटे के पावर कट लगते हैं। एक बार और भाजपा को वोट दे दो, 12-12 घंटे पावर कट लगा करेंगे। अगर आपको 24 घंटे बिजली चाहिए, तो आम आदमी पार्टी को वोट दे देना और अगर पावर कट चाहिए, तो जाकर योगी जी को वोट दे देना। दिल्ली में 24 घंटे बिजली मिलती है और मुफ्त बिजली मिलती है। लोगों के बिल तो आते हैं, लेकिन वह बिल जीरो होता है। उसमें कोई टैक्स या सर्विस चार्ज नहीं होता है। दिल्ली में 35 लाख परिवारों के जीरो बिल आते हैं।

अब उत्तर प्रदेश में जिसको बिजली के बिल जीरो चाहिए, हमको वोट दे देना और जिसको महंगी बिजली चाहिए, योगी को वोट दे देना। 24 घंटे बिजली देना और जीरो बिल देना, यह आसान काम नहीं है। यह कोई चमत्कार ही है। उपर वाले ने यह हमको वरदान दिया है। यह काम केवल केजरीवाल कर सकता है और कोई नहीं कर सकता है। 24 घंटे बिजली और जीरो बिल केवल केजरीवाल कर सकता है। अगर कोई और 24 घंटे बिजली और जीरो बिल देने को कहे तो मान लेना कि उसके वश की बात नहीं है, वह झूठ बोल रहा है। आजकल कई पार्टियां जगह-जगह जाकर कह रही हैं कि हम भी 300 और 200 यूनिट बिजली देंगे, लेकिन कोई नहीं देने वाला है। इसका फार्मूला केवल हमको आता है। अरविंद केजरीवाल ने जनसभा में आए बेरोजार युवकों से पूछा कि योगी जी ने नौकरी नहीं दी। सपा वालों ने नौकरी नहीं दी, कांग्रेसियों ने नौकरी नहीं दी, हमको वोट दे दो, हम नौकरी देंगे। मैं हवा में नहीं कह रहा हूं। दिल्ली में 10 लाख युवाओं को नौकरियां दी है। हमें नौकरी देनी आती है। बेरोजगार रहना है, तो योगी जी को वोट दे देना और नौकरी चाहिए, तो केजरीवाल को वोट दे देना। अभी थोड़े दिन पहले मैं अयोध्या में रामलला के दर्शन करने गया था। जब बाहर आया, तो मन में एक विचार आया कि हे प्रभु! मुझे ताकत और शक्ति देना कि मैं भारतवर्ष के हर व्यक्ति को आयोध्या में श्रीरामचंद्र जी के दर्शन करा पाउं। दिल्ली में हमारी एक तीर्थ यात्रा योजना है। एक इंसान को जो-जो चीजें चाहिए, दिल्ली में हमने उन सब चीजों का इंतजाम कर दिया है। एक इंसान को स्कूल चाहिए, हमने स्कूल अच्छे कर दिए। एक इंसान को अस्पताल चाहिए, अस्पताल अच्छे कर दिए। बिजली चाहिए, हमने बिजली मुफ्त कर दी।

पानी चाहिए, हमने पानी मुफ्त कर दिया। अब हर इंसान की अपनी आध्यात्मिक जरूरत होती है। इसलिए हमने तीर्थ यात्रा योजना बनाई। हमने कहा कि हम दिल्ली के लोगों को मुफ्त तीर्थ यात्रा कराएंगे। हम लोगों को द्वारकाधीश भेजते हैं। किश्चियन को वेलंकन्नी चर्च भेजते हैं। मुसलमानों के लिए अजमेर सरीफ किया है। अभी दो ट्रेन में दिल्ली के लोग अयोध्या जी होकर आए हैं। उत्तर प्रदेश में हमें मौका मिला, तो जो-जो जाना चाहेगा, उन सब लोगों को अयोध्या जी के दर्शन करा कर लाएंगे। जिस दिन से मैं अयोध्या जी दर्शन करके आया हूं, तब से ये सारी पार्टी वाले, खासकर भाजपा वाले मेरे को इतनी गाली दे रहे हैं कि केजरीवाल अयोध्या क्यों गया, रामचंद्र जी के दर्शन करने क्यों गया? बताओ मैंने क्या बुरा कर दिया। रामचंद्र जी के दर्शन करके आया हूं। मैं तो यही प्रार्थना करता हूं कि इनको सदबुद्धि दो। इनको कहो कि ये भी अयोध्या जी के दर्शन करके आएं। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि प्रदेश में जितनी भी 18 साल से उपर की महिलाएं हैं, उन हर महिलाओं को हर महीने एक हजार रुपए उनके खाते में डालवाया करेंगे। जब से मैंने ये कहा है, तब से ये सारी पार्टियां मेरे को गालियां दे रही हैं। भाजपा वाले कह रहे हैं कि महिलाओं को हजार-हजार रुपए दिए तो वे बिगड़ जाएंगी। मैंने कहा, तुमने हजारों करोड़ रुपए डकरा लिए, तो तुम नहीं बिगड़े और हजार-हजार रुपए में हमारी मां-बहनें बिगड़ जाएंगी। अगर हजार रुपए मिलेंगे, तो एक बच्ची अपनी पढ़ाई पूरी कर लेगी। हजार रुपए मिलेंगे, तो मेरी बहन एक नया शूट खरीद लेगी, नई साड़ी खरीद लेगी, तुमको क्या तकलीफ होती है। हजार रुपए मिलेंगे, तो एक मां अपनी बेटी के हाथ में थोड़े से पैसे रख देगी। इनको क्या तकलीफ होती है कि ये मेरे पीछे पड़े रहते हैं। जब मैंने बिजली फ्री की, तो ये बोले कि केजरीवाल फ्री-फ्री कर रहा है। अमित शाह जी गोवा गए और बोले कि केजरीवाल फ्री-फ्री कर रहा है। मैं अमित शाह जी से पूछना चाहता हूं कि आपके घर की बिजली कितनी फ्री है।

मैं योगी जी से पूछना चाहता हूं कि आपकी बिजली कितनी फ्री है। इनके एक-एक मंत्री को 4-4 हजार यूनिट बिजली हर महीने मिलती है। तब इनको तकलीफ नहीं होती है, लेकिन मैंने अपनी जनता को 300 यूनिट फ्री बिजली देने के लिए कहा दिया, तो इन सबको मिर्ची लग रही है। इनको तकलीफ इसलिए हो रही है, क्योंकि अगर मैंने सारा पैसा आप लोगों में बांट दिया, तो इनको खाने के लिए कुछ नहीं बचेगा। मैं एक सीधा सा आदमी हूं, मेरे को राजनीति करनी नहीं आती है। मेरे को काम करने आता है। आप मुझसे जितना मर्जी काम करवा लो। मेरे को स्कूल-अस्पताल बनवाने आते हैं, मेरे को बिजली-पानी देने आता है। मैं काम सारा कर दूंगा, लेकिन यह गाली-गलौंच मेरे से नहीं होता है। आपने इन सारी पार्टियों को परख कर देख लिया। आपने सपा को भी खूब मौके देकर देख लिए। भाजपा को भी खूब मौके दे दिए। बसपा और कांग्रेस को भी खूब मौके दे दिए, पांच साल हमें भी देकर देख लो। हम इतने बुरे भी नहीं हैं। इस बार दिल्ली के चुनाव में मैंने बोला था, अगर काम किया है, तभी हमें वोट देना और अगर आपको लगे कि काम नहीं किया है, तो मेरे को वोट मत देना। पांच साल उत्तर प्रदेश में आकर भी यही बोलूंगा। एक बार मौका देकर देख लो, अगर काम नहीं किए, तो अगली बार वोट मांगने नहीं आउंगा।

RELATED ARTICLES

गणतंत्र दिवस पर छा रहा खतरा,सीमा पार से हो रही हिंसा की साजिश

दिल्ली। गणतंत्र दिवस के अवसर पर आतंकियों द्वारा किजा रही है हिंसा फैलाने की कोशिश। अब तक जम्मू क साथ साथ दिल्ली पंजाब की...

गणतंत्र दिवस की परेड में शामिल हो सकेंगे 24 हजार लोग

इस बार भी नहीं होगा कोई विदेशी मेहमान नई दिल्ली। कोरोना के नए वैरिंएट ओमिक्रॉन के खतरे के बीच होने जा रही गणतंत्र दिवस परेड...

अब ट्रेन मैनेजर के नाम से जाने जाएंगे रेलवे के गार्ड, सैलरी में भी होगा इजाफा?

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे ने आज एक बड़ा फैसला किया है। लंबे समय से लंबित मांग को पूरा करते हुए गार्ड के पद को...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

एमडीडीए उपाध्यक्ष ने ली प्राधिकरण की समीक्षा बैठक, दिए कई महत्वपूर्ण निर्देश

देहरादून। एमडीडीए उपाध्यक्ष बंशीधर तिवारी की अध्यक्षता में सोमवार को प्राधिकरण सभागार में एक समीक्षा बैठक आयोजित की गई, जिसमें उपाध्यक्ष श्री तिवारी द्वारा...

तीन साल की बच्ची चोरी, सीसीटीवी फुटेज आया सामने

हरिद्वार। हरकी पैड़ी से लापता संभल (यूपी) की तीन वर्षीय मासूम के मामले में नया मोड़ आ गया है। सीसीटीवी फुटेज में सामने आया...

अंतिम दौर के रेंडमाइजेशन की प्रक्रिया संपन्न

उत्तरकाशी। लोक सभा चुनाव के लिए जिले में मतदान केन्द्रों पर कार्मिकों तथा माईक्रो ऑब्जर्वर्स की तैनाती हेतु अंतिम दौर के रेंडमाईजेशन की प्रक्रिया...

लोकसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर समीक्षा बैठक आयोजित

हरिद्वार। एसएसपी प्रमेन्द्र डोबाल की अध्यक्षता में पुलिस लाइन रोशनाबाद स्थित सम्मेलन कक्ष में आज आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारियों को लेकर समीक्षा बैठक...

Recent Comments